Delhi CGST & CX Zone

Central Board Of Indirect Taxes & Customs
Government of India, Ministry of Finance, Department of Revenue,

Soulful rendition of Saraswati Vandana on 64th Founding Day of DRI

डीआरआई के 64वें स्थापना दिवस पर सरस्वती वंदना की भावपूर्ण अभिव्यक्ति (04.12.2021)


 

On the occasion of 64th Founding Day of DRI, on 04 December, 2021 the team of officers of Delhi Zone & DRI headed by Ms Shubhagata Kumar, Commissioner, Delhi West CGST presented a soulful rendition of Saraswati Vandana “माँ हमें वरदान दें, हम करें पूजा तुम्हारी” to invoke the blessings of goddess Saraswati. The song has been composed by shri Rajkumar, a senior faculty at Bharatkhande Hindustani Mahavidhalay, Dehradun & it is set in Raag Des, a soothing raag that has been the basis of various compositions,including national song “वंदे मातरम्”

डीआरआई के 64वें स्थापना दिवस के अवसर पर, 04 दिसंबर, 2021 को दिल्ली क्षेत्र और डीआरआई के अधिकारियों की टीम, सुश्री शुभगत कुमार, आयुक्त, दिल्ली पश्चिम सीजीएसटी की अध्यक्षता में, देवी सरस्वती के आशीर्वाद का आह्वान करने के लिए सरस्वती वंदना “माँ हमें वरदान दें, हम करें पूजा तुम्हारी” की भावपूर्ण अभिव्यक्ति प्रस्तुत की। यह गीत भारतखंडे हिंदुस्तानी महाविद्यालय, देहरादून के एक वरिष्ठ संकाय श्री राजकुमार द्वारा रचित किया गया है और यह राग देस में बनाया गया है, जो एक सुखदायक राग है जो राष्ट्रीय गीत "वंदे मातरम्" सहित विभिन्न रचनाओं का आधार रहा है।